बुधवार, 3 मई 2017

सुनिए बांग्ला कवि नजरूल इस्लाम की कविता का हिंदी अनुवाद

video
यहाँ प्रस्तुत काजी नजरूल इस्लाम की अमर कविता विद्रोही का हिंदी अनुवाद एवं पाठ पंकज मित्रा ने किया है। मई में काजी नजरूल इस्लाम की जयंती है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें